Site icon कबीर साहेब

Hanuman Janjira Mantra हनुमान जंजीरा मंत्र | जंजीरा मंदिर कहाँ है

हनुमान चालीसा

Hanuman Janjira Mantra रोज पढ़ने वालों की बहुत सारी , दुःख और अनहोनी टल जाता है , हनुमान जी की असीम अनुकम्पा से सभी कार्य सिद्ध हो जाते है।

हनुमान जी का दिन शनिवार और मंगलवार है , हनुमान जी की पूजा करने से शनिदेव भी शांत रहते है। 

Hanuman Janjira Mantra

ॐ हनुमान पहलवान पहलवान ,

बरस बारह का जवान ,

Om Hanuman wrestler wrestler, twelve year old young man,

हाथ में लड्डू मुंख में पान ,

खेल खेल गढ़ लंका के चौगान ,

Laddu in hand, betel leaf in mouth, Chaugan of Garh Lanka playing,

अंजनी का पूत , राम का दूत ,

छिन में कीलौ 

Anjani’s son, Ram’s messenger, key in snatch

नौ खंड का भूत , जाग जाग हड़मान हुँकाला ,

ताती लोहा लंकाला , शीश जटा 

Ghost of nine sections, Jaag Jaag Hadaman Hunkala, Tati Loha Lankala, Sheesh Jata

डेग डेरु उमर गाजे ,

बज्र की कोठड़ी बज्र  का ताला 

Dag Deru Omar Gaje, Bajr Ki Kothri Bajr’s Lock

आगे अर्जुन पीछे भीम , चोर नार चंपे 

Arjun in front, Bhim behind, Chor Nar Champe

 ने सिणं , अजरा झरे भरया भरे ,

ई  घट पिंड 

Ne Sinam, Ajra Jhaare Bharaya Bharae, E Ghat Pind

की रक्षा राजा रामचंद्र जी

लक्ष्मण कुंवर हड़मान करें। 

May King Ramchandra ji Laxman Kunwar Hadaman protect him.

Hanuman Janjira Mantra lyrics

महावीर हनुमान Hanuman Janjira Mantra आत्मा की शक्ति का स्रोत

मंत्र:

“ॐ हं हनुमते नमः”

मंत्र का अर्थ: “ॐ” एक आदिमात्र है, जो ब्रह्म, विष्णु, और शिव का प्रतीक है। “हं” हनुमान जी को समर्पित है और “नमः” आदिशक्ति का समर्पण है। इस मंत्र का जाप करने से भक्त को हनुमान जी के संग सहयोग और शक्ति का अहसास होता है।

Hanuman Janjira Mantra

Hanuman Janjira Mantra के लाभ:

  1. आत्मा का संयम: यह मंत्र आत्मा को संयमित रखने में मदद करता है और सभी विकारों से मुक्ति प्रदान करता है।
  2. भक्ति का स्तुति: हनुमान जी को नमस्कार करने से भक्त का मन शांत होता है और उसकी भक्ति में वृद्धि होती है।
  3. सुरक्षा: इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को अज्ञात खतरों से सुरक्षा मिलती है और उसे साहस मिलता है।
  4. आत्मविश्वास: हनुमान जी के इस मंत्र के जाप से भक्त को अपने आत्मविश्वास में सुधार होता है और उसमें नई ऊर्जा आती है।

मंत्र साधना:

  1. सुबह और शाम को शुद्ध मन से बैठकर मंत्र का जाप करें।
  2. ध्यान रखें कि आपका मन हनुमान जी की ओर एकाग्र हो।
  3. यदि संभव हो, तो रोज़ाना एक माला के साथ मंत्र का 108 बार जाप करें।

ध्यान रखें: मंत्र साधना में समर्पण और नियमितता बहुत महत्वपूर्ण है। मन और आत्मा के साथ एकाग्रता बनाए रखने के लिए मंत्र को श्रद्धापूर्वक जपें और इसका आनंद लें।

महावीर Hanuman Janjira Mantra आत्मा का संग्राम का परिचय

परिचय: महावीर हनुमान जंजीरा, जिन्हें हम आदरपूर्वक ‘भक्ति के बलवान’ कह सकते हैं, हिन्दू धर्म के महत्वपूर्ण देवता हनुमान जी की कथा को एक नए रूप में प्रस्तुत करती है। यह जंजीरा न केवल एक मंदिर का निर्माण नहीं है, बल्कि यह एक आत्मा के लड़ाई का प्रतीक भी है, जिसमें भक्ति और साहस का संगम होता है।

जंजीरा मंदिर कहाँ है ?

1. महत्वपूर्ण स्थान:

जंजीरा, भारत में, उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में स्थित है। यहां का मंदिर हनुमान जी को समर्पित है और इसे महावीर हनुमान जंजीरा के नाम से जाना जाता है।

2. जंजीरा का इतिहास:

इस मंदिर का निर्माण सन् 1985 में हुआ था, और तब से ही यह दर्शनीय स्थल बन गया है। इस मंदिर की ऊँचाई और विशालता ने इसे एक श्रृंगारी स्थल बना दिया है।

3. सुंदर संगीत:

मंदिर में होने वाले भजन संगीत का महौल बहुत ही भव्य है। यहां के पुजारी और भक्तगण ने एक साथ मिलकर एक ऐसा माहौल तैयार किया है जिससे आपका हृदय भगवान की ओर आकर्षित हो जाएगा।

4. सुंदर वातावरण:

जंजीरा मंदिर का परिसर प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर है। यहां के वृक्षों की छाया और हरियाली आपको एक शांतिपूर्ण अनुभव में डाल देगी, जिससे आपका मन शांत और प्रसन्न होगा।

5. भक्ति और साहस का संगम:

जंजीरा मंदिर एक ऐसी जगह है जहां भक्ति और साहस का संगम होता है। यहां आने वाले भक्त अपनी सारी संघर्षों को भगवान के सामने रखते हैं और उनसे शक्ति और साहस प्राप्त करते हैं।

FAQs:

Q1. कैसे पहुंचें जंजीरा मंदिर?

A1. जंजीरा मंदिर गोंडा जिले में स्थित है और सड़क और रेल मार्ग दोनों से सुरक्षितता से जुड़ा हुआ है। निकटतम रेलवे स्टेशन से आप वहां के टैक्सी या बसों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Q2. विशेष पूजा और कार्यक्रमों का समय क्या है?

A2. मंदिर में नियमित रूप से भक्ति पूजाएं और साधना संपन्न होती है

Exit mobile version